देसी घी भाव में तेजी के आसार, दूध पाउडर भाव में रह सकता है ठहराव

देसी घी
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group


देसी घी भाव में तेजी के आसार नजर आ रहे है। देशी घी कि कीमतों में इन्जाफा हो सकता है। उत्तर भारत में पिछले कुछ दिनों में लिक्विड दूध की कमी आई है, जिससे कंपनियों में प्रतिस्पर्धात्मक खरीद चल रही है। हालांकि मिलावटी देशी सी घी मंडियों में नामी गिरामी ब्रांडों का बनाकर सस्ते रेटो पर बिक रहा है जिसके कारण, बढ़िया निर्माता कंपनियों की बिक्री नकली और मिलावटी घी की अपेक्षा कम हो रही है। उधर बटर का स्टॉक कंपनियों में कम होता जा रहा है, इन परिस्थितियों में देशी घी 7600/7950 रुपए प्रति किलो के बीच प्रीमियम क्वालिटी के बिक रहे हैं इसमें और तेजी कि सम्भावना लग रही है। मिलावटी माल बिकने से असली देशी घी निर्माता को परेशानी जरूर हो रही है।

नकली और मिलावटी घी ज्यादा बिक रहा है इससे असली देसी घी Desi Ghee निर्माता कम्पनियों का मार्जिन बहुत कम रह गया है तथा आम उपभोक्ता सस्ते के चलते नकली देसी घी ले रहे हैं। सरकार को सबसे पहले मिलावटी माल पर सख्ती करनी चाहिए। अब त्योंहरिक सीजन शुरू होने एव विवाह शादियों का सीजन शुरू होने से देसी घी भाव में और सुधार होने कि सम्भावना नजर आ रही है।

WhatsApp Group Join Now

दूध पाउडर भाव में कुछ दिन ठहराव रहने के आसार

दूध पाउडर भाव में कुछ दिन ठहराव रहने कि उम्मीद है। अब गर्मी का सीजन चल रहा है। गर्मी के सीजन में दुधारू पशु जो दूध देते है वो, गर्मी कि वजह से कम चरते है। पशु कम चरने से दूध कम देते है। पशुओ के ब्यात का भी सीजन अब कम है। फेडरेशन के दूध पाउडर चालू पखवाड़े की आई तेजी के बाद ठहर गया है जिससे, उत्तर भारत के लिए भाड़ा अन्य खर्च मिलाकर पड़ता कम हो गया है। दूसरी ओर गर्मी बढ़ने से चालू सप्ताह में लिक्विड दूध की आपूर्ति घट कर 17 प्रतिशत रह गई है।

अंतरराष्ट्रीय बाजारों में भाव तेज होने से निर्यात में दूध पाउडर की मांग बढ़ गई है। यहां भी नीचे के भाव से पिछले सप्ताह 10 रुपए बढ़कर यहां 285/295 रुपए पर ठहरे हुए हैं। लिक्विड दूध के भाव भी पाउडर प्लांटों की लिवाली से एक सप्ताह से 57/58 रुपए प्रति किलो पर चल हैं, जिस कारण लागत महंगी हो गई है। इसलिए दूध के भावो में अगले कुछ दिन स्थिरता लग रही है।

यह भी देखे:- सरसों भाव मंदी कि तरफ मुड़ेगा या मचायेगा तेजी का तहलका, पूरी रिपोर्ट

WhatsApp Group Join Now

मसालों में तेजी-मंदी – लालमिर्च, कालीमिर्च, सौंठ, जीरा, लौंग और गोला बुरादा आदि की विस्तारित जानकारी

अस्वीकरण:- हमारे पोर्टल Mnadinews.org पोर्टल पर बताये गये समस्त भाव की जानकारी मिडिया स्त्रोत और अन्य ऑनलाइन प्रक्रिया से एकत्रित किये जाते है. हमारा पोर्टल किसी लाभ अथवा हानि की जिमेदारी नहीं लेता. धन्यवाद

WhatsApp Group Join Now